बोहोत जल्द ये सभी पब्लिक ट्रांसपोर्ट हो जाएंगे इलेक्ट्रिक

इलेक्ट्रिक होंगे पब्लिक ट्रांसपोर्ट

इलेक्ट्रिक मोबिलिटी की बात करें तो यह एक ऐसा तरीका है जहाँ व्हीकल्स इलेक्ट्रिसिटी के ज़रिये चलते हैं, फॉसिल फ्यूल्स की जगह। इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के कई फायदे हैं एनवायरनमेंट, अर्थव्यवस्था, और समाज के लिए. इससे हवा में होने वाले प्रदुषण, ग्रीनहाउस गैस एमिशन्स, तेल की आवश्यकता और फ्यूल के खर्चे काम हो सकते हैं. इससे पब्लिक हेल्थ, एनर्जी सिक्योरिटी, और अर्बन जीने की सुविधा में सुधर हो सकता है.

इलेक्ट्रिक मोबिलिटी का एक ऐसा क्षेत्र भी है, जहा सबसे ज्यादा काम होना बाकि है, वो है पब्लिक ट्रांसपोर्ट। पब्लिक ट्रांसपरत एक ऐसा प्रकार का प्रवासन है जो आम जनता के लिए उपलब्ध होता है, इसके ट्रांसपोर्टेशन सिस्टम के अंदर बस, ट्रैन, मेट्रो, ट्राम और रिक्शा जैस व्हीकल आते है। पब्लिक ट्रांसपोर्ट लाखो लोगो को भारत में प्राप्ति, उपलधता और जुड़ाव के रूप में सर्विस देने की बहुत एहम भूमिका निभाता है। इससे सामाजिक समावेश, आर्थिक विकार और पर्यावरण में भी योदगान होता है।

पब्लिक ट्रांसपोर्ट में समस्याएं

पब्लिक ट्रांसपोर्ट
पब्लिक ट्रांसपोर्ट

लेकिन भारत में जब भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट की बात आती है, तो इसमें कई सारी समस्याएं देखने को मिल जाती है। जैसे काम यात्री संख्या, अधिक चलने की लागत, ख़राब सर्विस, बुरा इंफ्रास्ट्रक्चर और अधिक एमिशन। एहि सब दिखातो के कारण भारत में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को कम से कम पसंद किया जाता है। इसलिए इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को अपनाना पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन को पूरी तरह से बदल के रख सकता है, और पहले से भी ज्यादा बेहतर बना सकता है।

इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के पब्लिक ट्रांसपोर्ट में फायदे

इलेक्ट्रिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट
इलेक्ट्रिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट

इलेक्ट्रिक मोबिलिटी पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए भारत में कई फायदे प्रदान कर सकता है। कुछ ऐसे फायदे हैं :

  • काम प्रदुषण: इलेक्ट्रिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्हीकल्स तैलपीपे एमिशन्स नहीं उत्पन्न करते हैं, यानि की वे हानि करक प्रदूशाक या ग्रीनहाउस गैसेस को हवा में नहीं छोड़ते हैं। इससे भारत के शहरों में हवा की गुणवत्ता को सुधरने में मदद मिलती है और हवा प्रदुषण के स्वस्थ्य पर होने वाले प्रभाव को काम करती है।
  • कम चलने की लागत: इलेक्ट्रिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्हीकल्स कम चलने की लागत धारावाहिक वाहनों से काम होती है. इसका कारन है की इलेक्ट्रिसिटी डीजल या पेट्रोल से सस्ती होती है और इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की मेंटेनेंस और मरम्मत की आवश्यकता कम होती है.
  • बेहतर यात्री अनुभव: इलेक्ट्रिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्हीकल्स आम वाहनों के मुकाबले बेहतर अनुभव प्रदान करते हैं। वे स्मूथ और शांत यात्रा प्रदान करते हैं और यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा को सुधर सकते हैं। इसके अलावा, इलेक्ट्रिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट व्हीकल्स यात्रियों के लिए हवा प्रशासक, Wi-Fi, डिजिटल डिस्प्ले और USB पोर्ट्स जैसी सुविधा भी प्रदान कर सकते हैं।

निष्कर्ष

इलेक्ट्रिक मोबिलिटी भारत में पब्लिक ट्रांसपोर्ट का भविष्य है। इससे एनवायरनमेंट, अर्थव्यवस्था और समाज के लिए कई फायदे हैं। लेकिन इसके एडॉप्शन को बढ़ने के लिए सभी स्टेकहोल्डर्स के समर्थन की आवश्यकता है। भारत में सरकर को पब्लिक ट्रांसपोर्ट क्षेत्र को एलेक्ट्रीफाये करने के लिए कई सारे आवश्यक कदम उठाने पड़ेंगे। इलेक्ट्रिक वाहनों का इस्तेमाल ही पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उज्वल भविष्य है।

यह भी देखिए: जानिए सभी प्रकार के EV प्लेटफार्म के बारे में: टाटा, महिंद्रा, हुंडई, वॉक्सवैगन व रीनॉल्ट

Leave a comment