जानिए क्यों 2024 हैदराबाद फार्मूला ई-प्रिक्स हुई रद्द, पूरी डिटेल्स

10 फ़रवरी को होने वाली 2024 हैदराबाद फार्मूला ई-प्रिक्स हुयी रद्द, जानिए मुख्या कारण

2024 हैदराबाद ई-प्रिक्स, जो शुरू में 10 फरवरी के लिए निर्धारित थी, उसे आधिकारिक तौर पर रद्द कर दिया गया है, फॉर्मूला ई द्वारा इसकी पुष्टि हो चुकी है आज। तेलंगाना में हाल ही में राज्य विधानसभा चुनावों के बाद चिंताएं पैदा हुईं, जिसके कारण यह निर्णय लिया गया। फॉर्मूला ई अब तेलंगाना सरकार द्वारा “ब्रीच ऑफ़ कॉन्ट्रैक्ट” के लिए संभावित कानूनी कार्रवाई की तलाश कर रहा है।

मुख्या कारण

जानिए क्यों 2024 हैदराबाद फार्मूला ई-प्रिक्स हुई रद्द, पूरी डिटेल्स
Source: Formula E

फॉर्मूला ई के एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, “तेलंगाना सरकार के नियंत्रण में नगर पालिका प्रशासन और शहरी विकास विभाग (MAUD) द्वारा 30 अक्टूबर 2023 को मेजबान शहर समझौते को पूरा नहीं करने के फैसले के बाद कैंसिल कर दिया गया है। फॉर्मूला ई ऑपरेशंस (FEO) के पास MAUD को औपचारिक रूप से नोटिस देने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है कि वह अनुबंध का उल्लंघन कर रहा है। FEO अपनी स्थिति पर विचार कर रहा है और मेजबान शहर समझौते और लागू कानूनों के तहत वह क्या कदम उठा सकता है। FEO के सभी उस संबंध में अधिकार सुरक्षित हैं।”

फार्मूला ई 2023

हैदराबाद ई-प्रिक्स इस साल की शुरुआत में हुई थी , जिसमें लगभग 31,000 लोग शामिल हुए थे। जबकि ट्रैक को ड्राइवरों से पॉजिटिव फीडबैक मिली, ऑपरेशनल और इंफ्रास्ट्रक्चर ढांचे के मुद्दे सामने आए। इवेंट की वापसी के बारे में संदेह के बावजूद, अक्टूबर में 2024 फॉर्मूला ई कैलेंडर ने हैदराबाद ई-प्रिक्स की पुष्टि की। हालाँकि, तेलंगाना में कांग्रेस की कमान संभालने के साथ, शहर में शासन में बदलाव का अनुभव हुआ।

जानिए क्यों 2024 हैदराबाद फार्मूला ई-प्रिक्स हुई रद्द, पूरी डिटेल्स
Source: Jaguar

फॉर्मूला ई के सह-संस्थापक और मुख्य चैम्पियनशिप अधिकारी अल्बर्टो लोंगो ने निराशा व्यक्त करते हुए कहा, “हम भारत में विशाल मोटरस्पोर्ट फैनबेस के लिए बेहद निराश हैं। हम जानते हैं कि आधिकारिक मोटरस्पोर्ट विश्व चैम्पियनशिप दौड़ की मेजबानी करना हैदराबाद के लिए एक महत्वपूर्ण और प्रतिष्ठित अवसर है। और पूरा देश।”

2024 फार्मूला ई-प्रिक्स

रद्द होने से फॉर्मूला ई के पास 2024 के लिए 15-रेस का छोटा कैलेंडर रह गया है, जिसमें तत्काल रिप्लेसमेंट की कोई योजना नहीं है। इससे दिरियाह ई-प्रिक्स (26-27 जनवरी) और साओ पाउलो ई-प्रिक्स (16 मार्च) के बीच लगभग दो महीने का अंतर पैदा हो गया है।

यह भी देखिये: 5 नई मिड-साइज इलेक्ट्रिक SUVs जो जल्द भारत में लॉन्च होंगी, जानिए पूरा विवरण

Leave a comment